Zomato ने किया हे खूब संघर्ष, जानिए उसके फाउन्डर दीपिंदर गोयल सफलता की कहानी…

आज हम आपको बताएंगे Zomato के फाउन्डर डीपीनदर गोयल की कहानी। जिंदगी में कुछ बड़ा करने के लिए हुनर और दिमाग और साथ साथ  पने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जज्बा और हिम्मत की भी जरूरत पड़ती हे। उनका जन्म पंजाब के मुत्तसर जिले में एक ऐसे मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था जिसमे उनके माता और पिता दोनों ही शिक्षक थे। क्लास 8 में टीचर द्वारा नकल कराकर उन्होने पूरी क्लास मे अच्छे अंक प्राप्त किए। फिर क्लास 9 और 10 भी इसी तरह पास कर ली।

रात-दिन मेहनत करके क्लास 11 और 12 भी अच्छे अंको से पास कर ली| वर्ष 2005 में उन्होंने आईआईटी दिल्ली से ही ‘मैथ्स एंड कंप्यूटिंग’ में इंटीग्रेटेड एमटेक की डिग्री हासिल करके नौकरी भी शुरू कर दी और फिर 2007 में कंचन जोशी  जो आईआईटी दिल्ली में ही उनकी सहपाठी थीं से विवाह कर लिया|

एक बार ऑफिस लंच के दौरान उनका ध्यान अपने साथ काम करने वालो की लगी लंबी कतार पर गया।  जिसकी वजह से सभी का समय भी बर्बाद हो रहा था। उन्होंने टेक्नोलॉजी का सहारा लिया, मेन्यू को स्कैन कर एक वेबसाइट बनाकर ऑनलाइन डाल दिया। अपने इस स्टार्टअप की योजना को अपने एक मित्र पंकज के साथ वर्ष 2008 में ऑनलाइन फ़ूड वेबसाइट Foodiebay.com के साथ जॉब में रहते हुए शुरू किया | 2010 तक देश के कई शहरों के होटल और रेस्टोरेंट उनकी इस वेबसाइट से जुड़ चुके थे |

सफलता मिलने पर वो आत्मविश्वास से भर गए। अपनी पत्नी को दिल्ली यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर की नौकरी मिल जाने के बाद अपनी नौकरी छोड़कर सारा ध्यान अपने मित्र पंकज चड्डा के साथ मिलकर अपने बिज़नेस की ओर देने लगे | वर्ष 2010 में foodiebay.com को ही zomato.com में बदल दिया | जल्दी ही इनको अपनी कंपनी को बढ़ाने के लिए कई निवेशक मिल गये |

मोबाइल एप्लीकेशन भी लांच कर दिया जिसके बाद आज उनकी UAE, श्रीलंका, क़तर, यूनाइटेड किंगडम, फिलिपीन्स जैसी करीब 24 देशो के करीब 10000 शहरों में अपनी सेवा प्रदान कर रही है | इस कंपनी को यहाँ तक पहुँचने के सफर में कई उतार-चढ़ाव देखे हे|

Leave a Reply

Your email address will not be published.