सुबह उठकर खाली पेट गलती से भी न खाए ये 6 चीजें, बाद मे हो सकता हे पछतावा…

एक्सपर्ट बताते हैं कि खाली पेट कुछ खाद्य पदार्थ खाने से आंतों को नुकसान पहुंच सकता है। आपका पाचन तंत्र लंबे समय तक सोने के बाद काम करना शुरू करता है, इसके लिए उसे कुछ समय देना चाहिए और जागने के कम से कम 2 घंटे बाद ही नाश्ता करना चाहिए। कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हैं, जिन्हें खाली पेट खाने से बचना चाहिए नहीं तो उनसे शारीरिक समस्या पैदा हो सकती है।

कच्ची सब्जियां: कच्ची सब्जियां या सलाद का सेवन खाली पेट नहीं करना चाहिए, क्योंकि एक्सपर्ट ऐसा करने की सलाह नहीं देते। दरअसल, कच्ची सब्जियां फाइबर से भरपूर होती हैं, जो खाली पेट पर अतिरिक्त भार डाल सकती हैं। वहीं खाली पेट खाने पर ये पेट फूलने और पेट दर्द का कारण भी बन सकती हैं, इसलिए सुबह खाली पेट कच्ची सब्जियों को खाने से बचें।

मसालेदार भोजन: खाली पेट मसाले और मिर्च खाने से पेट की परत में जलन हो सकती है, जिससे एसिडिक रिएक्शन और पेट में ऐंठन करी शिकायत हो सकती है। वहीं मसालों की प्रकृति तीखी होती है, जो अपच को बढ़ा सकती है। इसलिए सुबह के समय तीखे और मसालेदार भोजन करने से बचें। कई लोग सुबह नाश्ते में समोसा, कचोड़ी, पकौड़ी आदि का सेवन करते हैं, वे भी इनसे बचें।

फल: फल हमेशा बहुत स्वस्थ होते हैं, लेकिन अगर उन्हें सही समय पर खाया जाए। खाली पेट खट्टे फल खाने से एसिड का उत्पादन बढ़ सकता है। इसके अलावा फलों में बहुत अधिक फाइबर और फ्रक्टोज होता है। जो खाली पेट खाने पर पाचन तंत्र को धीमा कर सकते हैं, इसलिए सुबह-सुबह अमरूद और संतरे जैसे खट्टे और रेशे वाले फल खाने से बचना चाहिए।

जूस: सुबह खाली पेट जूस पीने से बचें। एक्सपर्ट के मुताबिक दिन की शुरुआत फलों के जूस से नहीं करनी चाहिए। क्योंकि जूस अग्न्याशय पर अतिरिक्त भार डाल सकते हैं, जो शरीर के लिए अच्छा नहीं होता। वहीं पेट खाली होने से फलों में फ्रक्टोज के रूप में मौजूद चीनी लिवर पर अधिक दवाब डाल सकती है।

दही: इसलिए सुबह उठते ही दही का सेवन नहीं करना चाहिए। दही में लैक्टिक एसिड होता है, जो पेट की अम्लता के लेवल को बिगाड़ देता है। वहीं खाली पेट उत्पादों के सेवन से उनमें मौजूद लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया को मार सकता है, जो कि एसिडिटी को बढ़ा सकते हैं

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.