लोगों को कॉफी पीलाकर मालिक ने की आत्महत्या, अब 8 करोड़ की इस कंपनी को संभाल रही है उनकी पत्नी…

आज हम बात करेंगे सीसीडी (CCD) के ब्रांड की सक्सेस स्टोरी की। इस सफल कहानी को पढ़कर आप भी दंग रह जाएंगे। वी.जी. सिद्धार्थ(V. G. Siddharth) कैफे कॉफी डे (Cafe Coffee Day) ब्रांड नाम से कॉफी रेस्तरां चलाने वाली कंपनी के संस्थापक और अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक थे। वह कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस.M. कृष्णा के दामाद थे।

आत्महत्या कर ली:

सीसीडी नामक एक लोकप्रिय ब्रांड के मालिक वीजी सिद्धार्थ ने जुलाई 2019 में नदी में कूदकर अपनी जिंदगी खत्म(Sucide) कर ली। इससे लोगों को लगा कि कैफे कॉफी डे अब एक सफल अंत होगा, लेकिन उस समय वीजी सिद्धार्थ की पत्नी मालविका(Malavika) ने हार नहीं मानी, उन्होंने कैफे कॉफी डे (CCD) ब्रांड के साथ फिर से शुरुआत की।

वीजी सिद्धार्थ भारत के सबसे सफल बिजनेसमैन में से एक थे। उन्होंने महज 5 लाख रुपए से अपनी यात्रा शुरू की थी। उस समय वह एक कप कॉफी के साथ 8,000 करोड़ रुपये की कंपनी बन गए थे। वीजी सिद्धार्थ का जन्म कर्नाटक के चिकमगलुरु में हुआ था। अगर हम वीजी सिद्धार्थ की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने मंगलुरु यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में मास्टर्स किया था।

करते थे नौकरी:

वह चाहते थे कि मैं बिजनेस करूं, लेकिन उनके पिता चाहते थे कि उनका बेटा अच्छा काम करे, वह उनकी जिद पर एक-दो नहीं हो गए और ऐसी परिस्थितियों में अपने पिता से 5 लाख रुपये लेकर बिजनेस करने लगे। इस पैसे से वीजी सिद्धार्थ ने एक छोटा सा प्लॉट खरीदा। वीजी सिद्धार्थ ने साल 1983 में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज से जुड़ी एक कंपनी में दो साल तक काम किया।

शुरू किया बिजनस:

नौकरी का मजा नहीं मिला तो मुंबई से बेंगलुरु आ गए। कड़ी मेहनत करने के बाद वीजी सिद्धार्थ 5 लाख से 8000 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक बन गए। इस यात्रा में उनके जीवन में कई उतार-चढ़ाव आए। वर्ष 2019 में वीजी सिद्धार्थ की कंपनी पर 6,550 करोड़ रुपये का कर्ज था, उन्होंने कर्ज के बोझ को कम करने के लिए कई प्रयास किए। आखिरकार उन्होंने 3,200 करोड़ रुपये का कर्ज कम कर दिया, इसके बाद भी उन्होंने 3,200 करोड़ रुपये का कर्ज कम कर दिया।  सिद्धार्थ ने नदी में कूदकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

पति की मौत के बाद पत्नी ने संभाली कंपनी की कमान, पत्नी मालविका ने मन में रचाई थी शादी सीसीडी की खोई प्रतिष्ठा को फिर से खड़ा कर देगी पत्नी मालविका को शुरुआत में काफी संघर्ष करना पड़ा कुछ समय पहले कंपनी को 50 फीसदी का मुनाफा हुआ था आज धीरे-धीरे अपनी पत्नी मालविका के नेतृत्व में कंपनी के ऊंचे मुकाम तक पहुंचने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.