टीम इंडिया का ये खिलाड़ी इस उम्र में ले सकता है संन्यास, खुद के दम पर खेलता था मैच…

आज कल भारतीय युवा क्रिकेट की और ज्यादा आकर्षित हे। भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) में सेलेक्शन होना जितना मुश्किल माना जाता है, उससे कई गुना ज्यादा मुश्किल खुद को टीम इंडिया (Team India) में बरकरार रखना होता है, क्योंकि टीम के बाहर भी कई ऐसे खिलाड़ी होते हैं। भारत का एक खिलाड़ी ऐसा है, जिसका करियर मुश्किल में फंसा हुआ है और उनके लिए टीम इंडिया (Team India) के दरवाजे भी लगभग बंद नजर आ रहे हैं। हम बात कर रहे हे टीम इंडिया के खिलाड़ी मनीष पांडे (Manish Pandey) की।

करियर खत्म हुआ इस खिलाड़ी का:

आईपीएल 2021 में भी मनीष पांडे(Manish Pandey) सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए कमजोर कड़ी साबित हुए थे। मनीष पांडे ने टीम इंडिया के लिए अब तक 39 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं। मनीष पांडे कभी कंसिसेटेंट नहीं रहे और यही वजह है कि उनका टीम इंडिया में आना और जाना लगा रहा। अब लगता नहीं कि वो कभी वापसी कर पाएंगे।

टीम इंडिया में वापसी मुश्किल हे:

इस खिलाड़ी को एक वक्त पर टीम इंडिया का भविष्य माना जाता था, लेकिन इनका बल्ला ज्यादातर शांत रहा। शानदार शुरुआत को वो बड़े करियर में तब्दील नहीं कर सके। मनीष पांडे ने टीम इंडिया के लिए शानदार डेब्यू किया था। उन्होंने साल 2015 में जिंबाब्वे के खिलाफ 86 गेंदों पर 71 रन बनाए थे। इसके बाद अगले ही साल उन्होंने सिडनी में 81 गेंदों पर 104 रन बनाए और टीम की जीत पक्की की। इंजरी ने भी उनसे कई बड़े मौके छीने।

IPL टीम मे नहीं होगी खरीददारी:

उनके प्रदर्शन में निरंतर गिरावट आई है। SRH के लिए खेलने वाले मनीष पांडे(Manish Pandey) बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। उन्होंने एक भी मैच जिताऊ पारी नहीं खेली थी। ये धाकड़ बल्लेबाज बिल्कुल भी अपनी लय में नजर नहीं आया। पिछले कुछ सीजन में वो रनों के लिए जूझते दिखाई दिए।

2009 में वह आईपीएल में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बने थे:

2009 में वह आईपीएल में शतक(Cenctury) लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे। उन्होंने डेक्कन चार्जर्स हैदराबाद के खिलाफ सिर्फ 73 गेंदो में नाबाद 114 रनों की पारी खेली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.