बॉयफ्रेंड के प्यार के चक्कर में अपनी ही मां का काट डाला गला, एसे हुआ पर्दाफाश…

दिल्ली आज कल क्राइम कैपिटल बन चुकी हे। देश की राजधानी दिल्ली से एक बेहद खौफनाक और हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बेटी ने उस मां को ही मरवा डाला। जिसने उसे जन्म दिया और पाल पोसकर बड़ा किया। लड़की ने इस साजिश को अपने प्रेमी के दोस्त के साथ मिलकर अंजाम दिया। इस घटना ने आसपास के इलाके में सनसनी फैला दी है। पुलिस ने आरोपी बेटी और उसके प्रेमी के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है।

मृतक महिला भाजपा की नेता थीं:

वो 55 साल की थी और भारतीय जनता पार्टी की नेता थीं। उनके पति की काफी समय पहले ही हत्या हो गई थी। इसके बाद महिला ने ही दो बच्चों को पाल पोसकर बड़ा किया था। दिल्ली के आंबेडकर नगर में रहने वाली महिला सुधा रानी की शनिवार रात 10 बजे हत्या हो गई थी। उन्होंने 2007 में भाजपा के टिकट से निगम पार्षद का चुनाव भी लड़ा था। उनकी हत्या की सूचना मिलते ही हड़ंकप मच गया। हत्या के साथ ही घर में लूटपाट भी की गई थी। इस वजह से पुलिस हत्या को लूटपाट की निगाह से ही देख रही थी। मां की मौत की खबर सुनकर उनका बड़ा बेटा विक्रांत महाराष्ट्र से दिल्ली आया है।

सख्ती से पूछताछ की:

मृतक महिला की बेटी देवयानी से पुलिस ने पूछताछ शुरू की क्योंकि वो उस समय घर पर ही मौजूद थी। पुलिस को देवयानी अपना बयान बार-बार बदलकर दे रही थी। इससे पुलिस का शक गहरा गया और जब सख्ती से पूछताछ की गई तो देवयानी ने पूरा सच उगल दिया। इस पूरी वारदात को उसने अपने बॉयफ्रैंड के दोस्त कार्तिक के साथ मिलकर किया। उसने पहले अपनी मां और घर में मौजूद मामा दोनों को नींद की गोलियां खिला दीं। इसके बाद जब मामा और मां अपने-अपने कमरे में गहरी नींद में सो गए तो देवयानी ने कार्तिक को बुला लिया। कार्तिक सर्जिकल ब्लेड लेकर आया और उसकी मां का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद शातिर देवयानी ने घटना को लूट का रंग देने के लिए कुछ सामान बिखेर दिया और कुछ सामान कार्तिक को देकर वहां से भगा दिया।

वजह जानकर चौक जाओगे:

उसकी शादी पांच साल पहले नोएडा के चेतन के साथ हुई थी। पति को छोड़कर वो अपने बॉयफ्रेंड शिबू के साथ रहने लगी थी। ये बात उसकी मां को बिल्कुल नहीं पसंद थी और वो चाहती थीं कि वो शिबू को छोड़कर चेतन के साथ रहे। शिबू के खिलाफ कई केस दर्ज हैं और मां उसको बिल्कुल पसंद नहीं करती थी। सुधा रानी बेटी देवयानी को हर माह खर्चा भी देती थी लेकिन उन्होंने खर्चा बंद करने और जायदाद में हिस्सा न देने की धमकी भी देवयानी को दे दी थी। इसी वजह से उसने अपनी मां का खून करवा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.