दिल्ली में ऑक्सीजन सपोर्ट पर मरीज बढ़े, एक दिन में मिले 1700 से ज्यादा पॉजिटिव

दिल्ली में ओमिक्रॉन के बाद से कोरोना के मामलों में लगातार वृद्धि जारी है। शुक्रवार को ऑक्सीजन सपोर्ट पर मरीजों की संख्या बढ़कर 82 हो गई। साथ ही वेंटिलेटर पर भर्ती मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ। शुक्रवार को कोरोना के 1700 से अधिक नए मरीज मिले। मई महीने के बाद कोरोना के इतने मामले एक दिन में सामने आए है। कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के चलते संक्रमण दर दो फीसदी को पार कर गई है। हालांकि राहत की बात यह रही कि मौत का कोई मामला सामने नहीं आया। वहीं ऑक्सीजन सपोर्ट पर मरीजों की संख्या भी धीरे-धीरे बढ़ रही है।

कोरोना के मामलों में वृद्धि होने से दिल्ली में कोरोना के सक्रिय मरीज भी तेजी से बढ़ रहे है। जून महीने के बाद दिल्ली में कोरोना सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 4410 को छू गया है।

कोरोना टेस्ट बढ़ने के साथ संक्रमण दर में भी प्रोग्रेस देखने को मिल रही है। दिल्ली सरकार द्वारा शुक्रवार को जारी कोविड-19 स्वास्थ्य समाचार के अनुसार बीते 24 घंटे में 73590 लोगों की जांच की गई। जिसमें आरटीपीसीआर से 62812 और रैपिड एंटीजन टेस्ट से 10778 लोगों की जांच हुई। कोरोना संक्रमण की जांच दर 2.44 फीसदी दर्ज की गई। कोरोना को लेकर अब तक 32724935 सैंपल की जांच हो चुकी है।

तीन मरीज गंभीर हालत में उपचार के लिए वेंटिलेटर पर भर्ती है। और दाखिल 101 मरीजों में हल्के व कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहे है। अस्पतालों में टोटल 226 मरीज उपचार के लिए भर्ती है। साथ ही 40 कोविड संदिग्ध, 27 एयरपोर्ट से आने वाले कोरोना संक्रमित है। दिल्ली के मरीजों की संख्या 135 और बाहर के मरीजों की संख्या 24 है।

कोरोना के 2284 मरीजों का होम आइसोलेशन में उपचार जारी है। जबकि कोरोना के इलाज के लिए 226 मरीज अस्पताल में भर्ती है। इसके अलावा कोविड हेल्थ सेंटर में एक भी मरीज नहीं है और कोविड केयर सेंटर में 146 मरीज सारवार ले रहे हे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.