अच्छे अच्छे खिलाड़ियों का करियर बर्बाद कर चुके हे यह दिग्गज क्रिकेटर, विराट कोहली भी हे उसमे शामिल…

सौरव गांगुली ने पहले कहा था कि उन्होंने विराट कोहली को टी20 का कप्तान बने रहने के लिए कहा लेकिन कोहली ने दादा की बातों को खारिज कर दिया। कोहली के मुताबिक जब उन्होंने टी20 फॉर्मेट की कप्तानी से इस्तीफा दिया तो सभी ने उनके फैसले को स्वीकार किया और किसी ने भी उनसे कप्तान बने रहने के लिए नहीं कहा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली और पूर्व कप्तान विराट कोहली के बीच टकराव लगातार बरकरार है। टीम इंडिया की टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद कोहली ने इन अटकलों को और तेज कर दिया।

कोहली और गांगुली के बीच मतभेद:

कई लोग सोशल मीडिया पर टीम इंडिया में चल रहे इस गतिरोध के लिए सौरव गांगुली को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं और तो कुछ कोहली और शास्त्री पर इस विवाद का ठीकरा फोड़ रहे हैं। ये विवाद इतने चरम पर पहुंच गया था कि कोहली से वनडे की कप्तानी भी ली गई और अब उन्होंने टेस्ट की कप्तानी से भी छुट्टी ले ली।

गांगुली का विवादों से नाता:

इससे पहले भी सौरव गांगुली का विवादों से नाता रहा है। टीम इंडिया(Team India) के कप्तान(Captain) रहते हुए उन पर कई खिलाड़ियों के करियर से छेड़छाड़ करने के आरोप लगे।

अगरकर अगरकर:

अजीत अगरकर(Ajit Agarkar) टीम इंडिया के ऐसे अनसंग (Unsong) हीरो माने जाते हैं जिन्होंने तमाम उपलब्धियां हासिल की लेकिन उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट में वो सम्मान हासिल नहीं हुआ जिसके वे हकदार थे। अजीत अगरकर 2003 की उस वर्ल्डकप टीम में शामिल थे जिसने फाइनल तक का सफर तय किया। लेकिन सौरव गांगुली के कारण ही उन्हें विश्वकप के एक मुकाबले में भी प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिला।

वीवीएस लक्ष्मण:

वीवीएस लक्ष्मण(Laxman) एक समय वनडे भी कमाल की बल्लेबाजी करते थे लेकिन उन्हें 2003 के वनडे वर्ल्डकप में मौका नहीं मिला। उनकी जगह दिनेश मोंगिया ने मार ली। इसके बाद लक्ष्मण तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली पर इतना नाराज हुए कि वे रिटायरमेंट लेने जा रहे थे। गांगुली की कप्तानी में वे कभी प्लेइंग इलेवन में अपनी जगह पक्की नहीं कर सके और गांगुली ने उन पर ज्यादा भरोसा भी नहीं किया।

जयप्रकाश यादव:

जयप्रकाश यादव यानी जेपी यादव(JP Yadav) 2003 की विश्वकप टीम में रिजर्व खिलाड़ियों में शामिल थे। उन्होंने कुल 12 वनडे खेले लेकिन 6 विकेट ही चटका सके। उन्होंने आखिरी वनडे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। सौरव गांगुली ने उन पर ज्यादा भरोसा भी नहीं किया जिसके चलते उन्हें भविष्य में भारतीय टीम में मौका भी नहीं मिला।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.