इस प्रकार का आहार भी आपके बालों की खूबसूरती कम कर सकता हे, कही आप भी तो…

बालों की खूबसूरती उनकी बनावट पर निर्भर करती है। हम जो भी खाना खाते हैं उसका असर हमारे शरीर के सभी अंगों पर पड़ता है और उसी से विकास होता है। इसलिए बालों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए बालों के लिए फायदेमंद खाद्य पदार्थों का सेवन कर बालों की खूबसूरती को बढ़ाया जा सकता है। आयुर्वेद में, ऐसे गुणों वाले खाद्य पदार्थों को कश्मीरी आहार कहा जाता है।

नकद आहार: हमारे दैनिक आहार में विटामिन ए, विटामिन बी और प्रोटीन से भरपूर आहार लेना बालों के लिए फायदेमंद होता है।

रासायनिक गुण वाला भोजन: यानी ऊर्जा प्रदान करने वाले खाद्य पदार्थ बालों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं, ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें रासायनिक गुण होते हैं जैसे दूध, घी, ताजा मक्खन, ताजी मूली आदि का प्रयोग कम से कम करना चाहिए। ऐसा आहार विटामिन, प्रोटीन और आवश्यक वसा से भरपूर होता है और बालों के लिए अच्छा होता है। केला, नारियल, सेब, आम, आम, अनार जैसे फलों का सेवन करना चाहिए। केले बालों के लिए जरूरी विटामिन ए, कैल्शियम और आयरन प्रदान करते हैं। नारियल को कश्मीरी भी माना जाता है। सूखे मेवे – बादाम, काजू, काले अंगूर, किशमिश, खजूर आदि बालों के विकास के लिए अच्छे होते हैं और ताजी हरी सब्जियां खाने से विटामिन, आयरन और फाइबर मिलता है। आहार में दूध, जई, झींगा, सभी प्रकार की सब्जियां, पालक, प्याज, बैंगन, लहसुन, धनिया, हरी मिर्च, धनिया, जीरा, सजीव, खीरा, टमाटर, गाजर, नींबू जैसी सब्जियां और मसाले भी खाने चाहिए।

आहार में कुछ ऐसे पदार्थ होते हैं जो बालों को अत्यधिक नुकसान पहुंचा सकते हैं। जैसे की,

(1) नमक: अधिक नमक लेने से बाल झड़ने की संभावना बढ़ जाती है। अगर आपको सलाद में कच्चा नमक डालने की आदत है तो नमक की जगह सिंधव का इस्तेमाल करना चाहिए। नमक के क्षारीय गुणों के कारण बाल भंगुर, सफेद और गंजे हो जाते हैं।

(2) अचार: कुछ लोगो को सामान्य आहार के साथ अधिक मसालेदार, तैलीय, मसालेदार अचार खाने की आदत होती हे। ज्यादा तेल और मसाले वाला अचार भी बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। पित्त स्वभाव वाला व्यक्ति तुरंत प्रभावित होता है।

(3) क्षारीय पदार्थ: आजकल बाजार में मिलने वाले फास्ट फूड में बेकिंग सोडा, लेमन ब्लॉसम, साइट्रिक एसिड, पापड़ियो नमक का प्रयोग बहुतायत में होता है। बहुत सी महिलाएं घर में बने बेकिंग सोडा, दाल, बीन्स या फिर दाल को जल्दी काटने के लिए इस्तेमाल करती हैं, जो नुकसानदेह है। पापड़ में नमक भी काफी मात्रा में होता है। इसलिए इसे नहीं लेना चाहिए। क्षारीय पदार्थों के अत्यधिक सेवन से बालों का झड़ना, गंजापन या बालों का सफेद होना जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं।

(3) अत्यधिक मसालेदार, तला हुआ और खट्टा खाना: मध्यम मसाले वाले भोजन अच्छे लगते हैं और अधिक मसालेदार भोजन अधिक स्वादिष्ट लगते हैं। लेकिन ऐसे भोजन का प्रयोग प्रतिदिन नहीं करना चाहिए। खट्टे खाद्य पदार्थ जैसे आंवला, अनार, नींबू, खट्टे पदार्थ जैसे नींबू का फूल, इमली, साइट्रिक एसिड से बचें। यह बालों के झड़ने का कारण भी बनता है। ज्यादा मसालेदार, मिर्च, काली मिर्च, राई मिला हुआ खाना खाने से भी शरीर की गर्मी बढ़ती है और बाल झड़ने लगते हैं। इन सबके अलावा शराब पीने वाले, चाय, कॉफी पीने वाले, धूम्रपान करने वाले, मांसाहारी, बासी भोजन, फास्ट फूड या होटल का खाना, चॉकलेट, बिस्किट बेकरी डिश, उच्च चीनी, वनस्पति घी अतिरिक्त कुंवारी तेल का सेवन, परिरक्षकों का उपयोग , मेमने का आटा पकवान, आयुर्वेद में दिखाए गए विपरीत आहार जैसे दूध के साथ कांदा, बिना पोषण मूल्य के बीन्स या अचार का सेवननहीं करना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.