बाबा- तुम्हें जीवन में क्या चाहिए ? युवक- बाबा पैसा. बाबा- पैसे को साइड में रखो , अब बताओ क्या चाहिए ? युवक-….

गुरुजी – बच्चो मुझे बताओ कि पहले जिस जगह का नाम मद्रास था, अब उसे किस नाम से जाना जाता है ?
बच्चा – चेन्नई.
गुरुजी -बिल्कुल सही जवाब.
अब मुझे बताओ कि चेन्नई ये नाम क्यो रखा गया ??
बच्चा – सर, वहा के लोग लुंगी पहनते हैं.
और लुंगी को पैंट की तरह चेन नही होती, इसलिए (चेन नहीं) चेन्नई नाम रखा गया.

बाबा- तुम्हें जीवन में क्या चाहिए ?
युवक- बाबा पैसा.
बाबा- पैसे को साइड में रखो , अब बताओ क्या चाहिए ?
युवक- बाबा साइड में रखे पैसे.

अंकल – बेटा क्या करते हो?
शख्स – अंकल मैं ‘बाबू’ हूं
अंकल – वाह, तुम क्लर्क हो ?
शख्स – नहीं अंकल मैं ‘बाबू’ हूं
अंकल – तू है क्या?
शख्स– अरे अंकल, मैं ‘बाबू’ हूं आपकी बेटी का,
आपकी बेटी मुझे हमेशा कहती है – ‘मेरा बाबू’
अंकल बेहोश

पिता- अगर तुम इस बार भी फेल हो गए तो मुझे पापा मत कहना….
पिता- तुम्हारा रिजल्ट कैसा रहा चिंटू?
चिंटू- दिमाग खराब मत करो रमेश, तुम पिता होने का हक खो चुके हो।

नितिन- यार बताओ I am going का अर्थ क्या होता है?
आशेंद्र- मैं जा रहा हूं.
नितिन- ऐसे कैसे चले जाओगे? यह सवाल मैं 10 लोगों से पूछ चुका हूं. सब कहते हैं कि मैं जा रहा हूं.
इसका सही जवाब बताकर जाओ जहां जाना है…

Leave a Reply

Your email address will not be published.