केवल 5 मिनट में घर से मच्छरों को स्थायी रूप से हटाने के लिए बिना किसी लागत के सबसे अच्छा घरेलू उपचार…

मच्छर के काटने से होने वाली बीमारी से लाखों लोगों की मौत हो जाती है। डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसे मच्छर जनित रोग हैं। मच्छरों के प्रकोप को रोकने के लिए स्वच्छता अभियान भी चलाया जाता है। साथ ही मच्छरों से निजात पाने के लिए लोग स्प्रे, इलेक्ट्रिक रैकेट के साथ ही बाजार में उपलब्ध कचुआ अगरबत्ती और टट्टू का भी इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इन सबके उपयोग के बाद भी मच्छरों का प्रकोप कम नहीं होता है।

हालांकि इन उत्पादों में कई तरह के केमिकल्स होते हैं, जो सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए आप मच्छरों को दूर रखने के लिए प्राकृतिक उपाय अपना सकते हैं। लहसुन की कुछ कलियों को एक कटोरी पानी में उबालें, और उस कमरे के चारों ओर छिड़कें जहां आप मच्छरों को मुक्त करना चाहते हैं। जैसे यह एक दुर्गंध हो सकती है लेकिन इसकी वजह से मच्छर भाग जाते हैं। अगर आप भी मच्छरों से परेशान हैं तो आप इस उपाय से मच्छरों से छुटकारा पा सकते हैं।

पुदीने का तेल:

मच्छरों को भगाने के लिए पुदीने का तेल सही उपाय है। पुदीने का तेल शरीर पर भी लगाया जा सकता है। और घर में पुदीने के तेल का छिड़काव करने से मच्छर करीब नहीं आते। आप चाहें तो खिड़की से बाहर पुदीने की पंखुड़ियों को लगा सकते हैं।

कच्चे नींबू:

कच्चे नींबू को दो टुकड़ों में काट लें और लौंग को उसके अंदर रख दें। लौंग के किनारे को ऊपर की ओर मोड़ें। इससे एक खास तरह की खुशबू पैदा होगी जो मच्छरों को बिल्कुल पसंद नहीं है, और वे आपके घर से भाग जाएंगे। यह एक प्राकृतिक चीज है जो बहुत प्रभावी है। कपूर को जलाकर कमरे में रख दें और कमरे की सभी खिड़कियां और दरवाजे बंद कर दें। 20 मिनट बाद अगर आप देखेंगे तो सभी मच्छर भाग गए होंगे। कपूर और लौंग को सूती कपड़े में बांधकर कमरे में टांग दें ताकि मच्छरों से छुटकारा मिल सके। ऐसा करने से मच्छर भाग जाएंगे।

तुलसी:

मच्छर भगाने में तुलसी बहुत कारगर है। आयुर्वेद के आधार पर अगर आप अपनी खिड़की के सामने तुलसी का पौधा लगाते हैं तो यह मच्छरों को भगाने में कारगर हो जाता है। तुलसी मच्छरों को अपने आसपास घूमने से रोकती है। गोलगोटा के फूल बालकनी को सुशोभित करने के साथ-साथ मच्छरों को दूर करने में भी मदद करते हैं। हवा में उड़ने वाले कीड़े गलगोटा की गंध से दूर भागते हैं। मच्छरों को भगाने के लिए गलगोटा के फूल की जरूरत नहीं होती, इसके पौधे न केवल मच्छरों को घर में आने देते हैं।

नीम का तेल:

नीम का तेल मच्छरों को भगाने में कारगर साबित हुआ है। नारियल और नीम के तेल की आनुपातिक मात्रा लेकर शरीर पर लगाने से मच्छर आपके आसपास नहीं चलेगा। मच्छर एंटीफंगल, एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर नीम की गंध से दूर भाग जाएगा। मच्छर, मक्खियों और छोटे कीड़े को दूर रखने के लिए नीम के पौधे लगाना फायदेमंद होता है। अगर आपके घर में गार्डन है तो उसमें नीम का पेड़ जरूर लगाएं। नीम घर के आसपास हो तो मच्छर नहीं आएंगे।

लौंग और नारियल तेल:

लौंग और नारियल तेल मिलाकर शरीर पर लगाएं। ऐसा करने से आपके शरीर के आसपास कोई मच्छर नहीं आएगा। नीम का तेल और नारियल तेल अनुपात में प्राप्त करें और इसे अपने शरीर पर लागू करें। एक भी मच्छर अपनी गंध के साथ आपके चारों ओर नहीं घूमेगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.